गुरुग्राम के पांच सितारा होटल में चल रहे कॉल सेंटर पर पुलिसिया रेड

पुलिस की साइबर सेल ने पांच सितारा होटल पर रेड कर नियमो को ताक पर रख कॉल सेंटर चलाये जाने का भंडाफोड़ किया है....पुलिस की माने तो जिला में लॉक डाउन नियम लागू है लेकिन बावजूद इसके इस होटल के 35 कमरों को बुक कर कमरों से ही कॉल सेंटर को ऑपरेट किया जा रहा था.....पुलिस की माने तो होटल में कोरोना महामारी को लेकर दी गयी किसी भी गाइडलाइन्स की पालना नही हो रही थी....कमरों में बैठे कॉल सेंटर के कर्मचारियों में से कोई सोशल डिस्टेन्स की पालना नही कर रहा था

गुरुग्राम के पांच सितारा होटल में चल रहे कॉल सेंटर पर पुलिसिया रेड

गुरुग्राम (संजय खन्ना) || पुलिस की साइबर सेल ने पांच सितारा होटल पर रेड कर नियमो को ताक पर रख कॉल सेंटर चलाये जाने का भंडाफोड़ किया है....पुलिस की माने तो जिला में लॉक डाउन नियम लागू है लेकिन बावजूद इसके इस होटल के 35 कमरों को बुक कर कमरों से ही कॉल सेंटर को ऑपरेट किया जा रहा था.....पुलिस की माने तो होटल में कोरोना महामारी को लेकर दी गयी किसी भी गाइडलाइन्स की पालना नही हो रही थी....कमरों में बैठे कॉल सेंटर के कर्मचारियों में से कोई सोशल डिस्टेन्स की पालना नही कर रहा था और किसी शख्स ने मुह पर कोई मास्क तक नही पहना हुआ था.....इस मामले में एसीपी साइबर क्राइम की माने तो पुलिस ने कंपनी के मालिक ,ऑपरेशन मैनेजर,पांच सितारा होटल के जरनल मैनेजर को गिरफ्तार कर मामले की तफ़्तीश शुरू कर दी है.......

गुरुग्राम दिल्ली बॉर्डर के इसी पांच सितारा होटल में नियमो को ताक पर रख कॉल सेंटर चलाया जा रहा था....एसीपी साइबर क्राइम की माने तो वैसे तो इस कंपनी सबुरी टीएलसी वर्ल्ड वाइड सर्विसेज का आफिस सोहना रोड है....और यह कंपनी यूएसए में टेक्निकल सपोर्ट के तौर पर सर्विस देती आ रही थी.....लेकिन नियमो को ताक पर बिना किसी जानकारी या परमिशन के इसने अपना आफिस अवैध तौर पर इस होटल के कमरों में बनाया हुआ था....तकरीबन 50 कर्मचारी इन कमरों में 5/6 के ग्रुप्स में काम कर रहे थे.....एसीपी साइबर क्राइम करण गोयल की माने तो पुलिस ने इस कंपनी के मालिक अनुज जैन जो कि 80 प्रतिशत के शेयर होल्डर है के साथ साथ कम्पनी के सीटीओ डायरेक्टर सिद्धार्थ,ऑपरेशन हेड अप्रूव,डायरेक्टर,अंकुश,कम्पनी के एडमिन,नवीन, टेक्निकल हेड ,और पांच सितारा होटल के जरनल मैनेजर नामित के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर इन्हें गिरफ्तार कर लिया जहाँ से इन्हें जमानत पर छोड़ दिया गया..........

गुरुग्राम में फर्जी तरिके से काल सेंटर चलाये जाने का यह कोई पहला मामला नहीं है | इससे पहले भी गुरुग्राम पुलिस ने कई काल सेंटरों का भंडा फोड़ किया है | कोरोना के प्रकोप को देखते गए पुरे देश में लॉक डाउन चल रहा है | ऐसे में नियमो को तक पर रख कर काल सेंटर चलाया जाना कहि न कहि लोगो की जिंदगी से खिलवाड़ कितना उचित है | पुलिस ने सभी आरोपियों को काबू कर लिया है|