सफाई कर्मचारी से पुलिस ने की मारपीट, मोबाइल तोड़कर आईकार्ड फाड़ा

चरखी दादरी। लॉक डाउन के दौरान जहां एक तरफ पूरे शहर की सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए सफाई कर्मचारी अपने कार्य में लगे हुए हैं। वहीं शनिवार शाम को एक सफाई कर्मचारी के साथ पुलिसकर्मी द्वारा मारपीट कर मोबाइल तोड़ दिया व आईकार्ड फाड़ दिया। घायल सफाई कर्मचारी को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सफाई कर्मचारियों ने एकजुट होते हुए सोमवार से हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है।

सफाई कर्मचारी से पुलिस ने की मारपीट, मोबाइल तोड़कर आईकार्ड फाड़ा

चरखी दादरी (प्रदीप साहू) ||  लॉक डाउन के दौरान जहां एक तरफ पूरे शहर की सफाई व्यवस्था को सुचारू बनाए रखने के लिए सफाई कर्मचारी अपने कार्य में लगे हुए हैं। वहीं शनिवार शाम को एक सफाई कर्मचारी के साथ पुलिसकर्मी द्वारा मारपीट कर मोबाइल तोड़ दिया व आईकार्ड फाड़ दिया। घायल सफाई कर्मचारी को सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। सफाई कर्मचारियों ने एकजुट होते हुए सोमवार से हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। उधर सफाई कर्मचारियों की शिकायत पर नगर परिषद ने उच्चाधिकारियों को पत्र लिखकर कार्रवाई की मांग की।

बता दें कि सफाई कर्मचारी शनिवार शाम शहर में राशन बांटने गए थे। इसी दौरान सफाई कर्मचारी व पुलिस कर्मचारी के बीच कहासुनी हो गई। पीडि़त सफाईकर्मी ललित ने बताया कि कमेटी की ओर से उसको राशन बांटने का काम सौंपा गया था। वह शहर की झुग्गी झोपडिय़ों में राशन बांटने के लिए जा रहा था। उस दौरान एक पुलिस कर्मचारी द्वारा उसकी पिटाई की गई है। इस दौरान उसका मोबाईल फोन तोड़ दिया और आईडी कार्ड भी फाड़ दिया गया। इस दौरान वह घायल हो गया और सिविल अस्पताल में भर्ती करवाया गया सफाई कर्मचारी के साथ मारपीट की सूचना पर सफाई कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारी अस्पताल पहुंचे। यूनियन की प्रधान सुनीता ने कहा कि नगर परिषद के सभी सफाई कर्मचारी बिना अवकाश लिए लॉकडाउन और कोरोना महामारी के दौरान भी शहर को साफ सुथरा रखने में लगे हुए हैं। इस दौरान तीन बार सफाई कर्मचारियों के साथ पुलिस कर्मचारी मारपीट कर चुके हैं। शनिवार को भी एक सफाई कर्मचारी के साथ मारपीट की है जो तीसरी घटना है। ऐसे में अगर कार्रवाई नहीं होती तो सफाई कर्मचारी सोमवार सेे हड़ताल पर चले जाएंगे।

नगर परिषद के चेयरमैन संजय छपारिया ने बताया कि सफाई कर्मचारियों के साथ पुलिस द्वारा कई बार मारपीट व अभद्र व्यवहार किया गया है। लॉकडाउन के दौरान सफाई कर्मचारी दिन-रात अपना कार्य बखूबी निभा रहे हैं। ऐसे में उनके साथ हुई मारपीट को लेकर उच्चाधिकारियों को कार्रवाई करने बारे पत्र लिखा है।