गुरुग्राम-लॉक डाउन के दौरान मारुती कंपनी होगी चालू

जिला प्रशासन ने मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड को प्लॉट नंबर 1 फेज 3 ए आईएमटी मानेसर गुरुग्राम में स्थित यूनिट में काम शुरू करने की अनुमति दे दी है. लॉक डाउन पीरियड में उक्त कंपनी ने 4696 श्रमिकों से काम कराने की अनुमति मांगी थी लेकिन उन्हें केबल 600 श्रमिकों से सिंगल शिफ्ट में काम कराने की अनुमति दी गई है. साथ ही कंपनी को 50 वाहनों की आवाजाही की अनुमति दी गई है.

गुरुग्राम-लॉक डाउन के दौरान मारुती कंपनी होगी चालू

गुरुग्राम (संजय खन्ना) ||  जिला प्रशासन ने मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड को प्लॉट नंबर 1  फेज 3 ए आईएमटी मानेसर गुरुग्राम में स्थित यूनिट में काम शुरू करने की अनुमति दे दी है.  लॉक डाउन पीरियड में उक्त कंपनी ने  4696 श्रमिकों से काम कराने की अनुमति मांगी थी लेकिन उन्हें केबल 600 श्रमिकों से  सिंगल शिफ्ट में काम कराने की अनुमति दी गई है. साथ ही कंपनी को 50 वाहनों की आवाजाही की अनुमति दी गई है.  जिला प्रशासन ने जारी अनुमति पत्र में यह  कहा है कि  केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी संशोधित गाइडलाइंस के पॉइंट नंबर 15 दो  के तहत उन्हें अपनी यूनिट में काम कराने की अनुमति दी गई है. इस अनुमति पत्र के जारी होने के बाद उद्योग जगत में छाई आशंका के बादल अब हटते नजर आ रहे हैं जबकि दूसरे अन्य औद्योगिक इकाइयों को भी अनुमति मिलने की संभावना प्रबल दिखने लगी है |

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को लॉक डाउन पार्ट 2 की घोषणा की थी तब उन्होंने देश के व्यावसायिक और औद्योगिक जगत के लोगों से वायदा किया था कि 15 अप्रैल को जारी होने वाली संशोधित गाइडलाइन के अनुसार 20 अप्रैल से औद्योगिक एवं व्यावसायिक गतिविधियां कुछ प्रावधानों का पालन कराते हुए शुरू की जा सकती है.  हालांकि  15 अप्रैल को संशोधित  गाइडलाइन केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से विस्तृत स्वरूप में जारी तो कर दी गई थी लेकिन कयासों का बाजार गर्म था और उद्योग जगत के प्रतिनिधि अपनी इकाइयों और अपने कार्यालय को दोबारा संचालित करने के लिए इधर उधर चक्कर लगा रहे थे।एक बात और आपको बता दे की गुरुग्राम की 300 से ज्यादा कंपनियों ने जिला प्रसासन से काम करने की अनुमति मांगी है जिसपर विचार किया जा रहा है। 

गुरुग्राम जो हरियाणा का सबसे महत्वपूर्ण औद्योगिक शहर है लेकिन कोरोना के काले बादल छाए हुए है।  हालांकि खबरें पहले से ही आने  लगी थी की यहां अवस्थित सबसे बड़ी औद्योगिक इकाई मारुति सुजुकी इंडिया को अपनी मानेसर यूनिट में काम  शुरू करने की अनुमति 20 अप्रैल से ही दे दी जाएगी. लेकिन गुरुग्राम में पिछले सप्ताह में  कोरोना के कई नए मामले  सामने आ जाने से यहां प्रदेश सरकार की ओर से तैनात नोडल अधिकारी और जिला प्रशासन सकते में आ गया था. शहर में 9 हॉटस्पॉट  और कंटेनमेंट एरिया भी घोषित करना पड़ा था जिससे उद्योग जगत चिंतित था कि 20 अप्रैल से उन्हें अपनी इकाइयों को संचालित करने की अनुमति अब नहीं मिलेगी।