दिल्ली में ट्रांसपोर्टर्स की कई यूनियन इकट्ठा हो के किया हड़ताल का आह्वान .....

दिल्ली के ट्रांसपोर्टरों ने इकट्ठे होकर हड़ताल का समर्थन किया और मंथन किया कि किस तरह से 25 नवंबर से चक्का जाम किया जाए।इनकी मांग टोल को इक्कठा लिया जाए , नए व्हीकल एक्ट को निरस्त किया जाए समेत कई है। अब इस ट्रांसपोर्ट यूनियन का तो दावा है कि उन्हें दूसरों का भी समर्थन मिल रहा है लेकिन असलियत में उन्हें कितना समर्थन मिलता है और यह हड़ताल  सफल होती है

दिल्ली में ट्रांसपोर्टर्स की कई यूनियन इकट्ठा हो के किया हड़ताल का आह्वान .....

  दिल्ली के संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में आज बड़ी संख्या में ट्रांसपोर्टर इकट्ठा हुए । ट्रांसपोर्टर्स की कई यूनियन यहां आई हुई थी और एक मीटिंग का आयोजन किया गया।  25 नवंबर 2019 से देश के काफी ट्रांसपोर्टर हड़ताल पर जाने का आह्वान कर चुके हैं।  हड़ताल का आह्वान "भाईचारा ऑल इंडिया ट्रक ऑपरेटर वेलफेयर एसोसिएशन"  ने किया है और अलग-अलग जगहों पर जाकर ट्रांसपोर्ट यूनियनों से समर्थन मांग रही है। दिल्ली, उत्तर प्रदेश हिमाचल प्रदेश, राजस्थान में कई जगह पर ट्रांसपोर्टरों की कई मीटिंग गए हो चुकी है और यूनियन का दावा है कि दूसरी यूनियनों का भी उन्हें समर्थन मिल रहा है। 25 नवंबर 2019 से चक्का जाम का आह्वान ये ट्रांसपोर्टर कर रहे हैं ।  25 नवम्बर से ये अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जा रहे है साथ ही ट्रांसपोर्टरों का कहना है कि इस बार दूध और फल सब्जी की गाड़ियां भी हड़ताल पर रहेगी उन्हें भी उन्होंने छूट नहीं दी है।संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर में दिल्ली के ट्रांसपोर्टरों ने इकट्ठे होकर हड़ताल का समर्थन किया और मंथन किया कि किस तरह से 25 नवंबर से चक्का जाम किया जाए।इनकी मांग टोल को इक्कठा लिया जाए , नए व्हीकल एक्ट को निरस्त किया जाए समेत कई है। अब इस ट्रांसपोर्ट यूनियन का तो दावा है कि उन्हें दूसरों का भी समर्थन मिल रहा है लेकिन असलियत में उन्हें कितना समर्थन मिलता है और यह हड़ताल  सफल होती है या नहीं यह 25 नवंबर को ही साफ हो पाएगा।