पैरा ओलंपिक में बहादुरगढ़ के होनहार खिलाड़ी योगेश कथूनीया ने डिस्कस थ्रो में जीता रजत पदक.....

बहादुरगढ़ के योगेश ने पैरा ओलंपिक में सिल्वर पदक जीतकर बहादुरगढ सहित पूरे प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है उनकी जीत पर उनके घर में खुशी का माहौल है |

पैरा ओलंपिक में बहादुरगढ़ के होनहार खिलाड़ी योगेश कथूनीया ने डिस्कस थ्रो में जीता रजत पदक.....
Jhajjar (Sanjit Khanna) || बहादुरगढ़ के योगेश ने पैरा ओलंपिक में सिल्वर पदक जीतकर बहादुरगढ सहित पूरे प्रदेश और देश का नाम रोशन किया है  उनकी जीत पर उनके घर में खुशी का माहौल है आसपास के लोग घर में आकर बधाइयां दे रहे हैं इस मौके पर बहादुरगढ से बीजेपी पूर्व विधायक नरेश कौशिक भी योगेश के घर पहुंचकर उनके माता-पिता को बधाई दी।

 आपको बता दे की योगेश के पिता व दादा सेना में सेवाएं दे चुके हैं। दादाजी जहां सूबेदार के पद से रिटायर है तो पिता कैप्टन के पद से रिटायर हो चुके हैं। इसी बीच योगेश ने विदेश परचम लहराया है। योगेश ने आज उनके माता-पिता का नाम रोशन कर दिया है।
माता का कहना है कि सबसे ज्यादा उनको समस्याएं झेलनी पड़ी.क्योंकि उनके पति जो है सेना में देश की रक्षा करते थे। योगेश 2009 में पार्क में खेलते समय गिर गया था उसके बाद से 3 साल तक पैरालाइज रहा और 2016 में योगेश ने डिस्कस थ्रो की तैयारियां शुरू कर दी। 5 साल की कड़ी मेहनत के बाद आज योगेश देश की झोली में मेडल डाल पाया ।
परिवार वालों का कहना है कि उन्हें उम्मीद है उनका बेटा आगे गोल्ड भी लेकर आएगा लेकिन जिस तरह से योगेश की मेहनत लगन उनके लिए सिलवर ही गोल्ड है। वहीं उनकी बहन का कहना कि राखी बांधते समय योगेश कह कर गया था कि तोहफे में मेडल देंगे और आज उनके भाई ने उन्हें राखी का तोहफा दिया, जिसकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं है ।उन्होंने कहा कि जैसे उनका भाई घर पहुंचेगा जोरदार स्वागत किया जाएगा। माता जी का कहना है कि रसमलाई योगेश को सबसे ज्यादा पसंद है जब योगेश आएगा रस मिलाई खिलाकर उनका स्वागत किया जाएगा।