यमुनानगर : रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में आरोपी गिरफ्तार

हरियाणा के यमुनानगर में नकली रेमडेसीविर इंजेक्शन मामले में शहर पुलिस के हाथ कामयाबी लगी है। पुलिस ने इस मामले में रघुनाथपुरी के सनम वोहरा को गिरफ्तार किया है। उस पर नकली इंजेक्शन लाकर देने का आरोप है।

यमुनानगर : रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में आरोपी गिरफ्तार
Yamunanagar (Sumit Oberoi) || यमुनानगर में एक नामी निजी अस्पताल में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज दाखिल था। जिसके लिए डॉक्टरों ने परिजनों को रेमडेसिवीर इंजेक्शन लगाने के लिए कहा। परिजनों ने इस संबंध में कई लोगों से बातचीत करने के बाद एक व्यक्ति से संपर्क हुआ और उसने 32000 में 2 इंजेक्शन लाने  बात कही। इंजेक्शन जब परिजनों ने डॉक्टर को दिखाएं। जिस पर डॉक्टर को इंजेक्शन के नकली होने का संदेह हुआ। अस्पताल ने इस संबंध में ड्रग इंस्पेक्टर को सूचित किया। जिसके बाद पता चला कि लगाया गया इंजेक्शन नकली हैं,इस पर ड्रग इंस्पेक्टर ने यमुनानगर पुलिस को इस संबंध में जानकारी दी।

सिटी एसएचओ सुखबीर सिंह ने बताया कि इस मामले में ड्रग कंट्रोलर ने शिकायत दी थी।शिकायत पर कार्रवाई करते हुए सनम वोहरा को गिरफ्तार किया गया है। उनके मुताबिक ड्रग कंट्रोलर को एक व्यक्ति ने शिकायत देकर बताया था कि रेमडेसिवीर के 2 इंजेक्शन उसे ₹32000 में दिए गए। जब डॉक्टर ने जांच की तो यह यह नकली मिले। आरोपी ने 2 इंजेक्शन को ₹32000 में बेचा। इंजेक्शन की  कीमत मात्र 5400 रुपए है। महामारी के समय आरोपी ने जहां उनसे धोखाधड़ी की वही गुणवत्ता से भी समझौता किया। अगर यह इंजेक्शन मरीज को लग जाता तो ना जाने क्या रिएक्शन नजर आता। एसएचओ ने कहा इस तरह के लोगों पर पुलिस नजर रखे हुए हैं।  पुलिस अब आरोपी से पूछताछ कर रही है जिसके बाद पता चलेगा कि उसने इंजेक्शन कहां से खरीदें, क्या ऐसा कोई गिरोह सक्रिय है, पुलिस इसकी जड़ तक जाने का प्रयास कर रही है।