जूनियर विश्व चैंपियनशिप में सोनीपत की बेटी बिपाशा ने जीता सिल्वर मेडल

हरियाणा के सोनीपत जिला से गांव छोटा खांडा की होनहार पहलवान बिपाशा ने रूस के उफा में आयोजित हुई जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीतने की खुशी में ग्रामीणों दवारा युद्धवीर अखाड़े में उनका जोरदार स्वागत किया गया। अब होनहार खिलाड़ी वर्ल्ड चैंपियनशिप की तैयारियों में लगेगी।

जूनियर विश्व चैंपियनशिप में सोनीपत की बेटी बिपाशा ने जीता सिल्वर मेडल

Sonipat (Manish Dahiya) || सोनीपत जिले की होनहार जूनियर कुश्ती खिलाड़ी पहलवान बिपाशा ने पहली बार ही जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल जीत कर हरियाणा और सोनीपत का नाम पूरे वर्ल्ड में रोशन किया है। होनहार बेटी दवारा जीते गए मेडल की खुशी में ग्रामीणों द्वारा युद्धवीर अखाड़े में एक सम्मान समारोह आयोजित कर बेटी का जोरदार स्वागत किया है। इस दौरान होनहार बेटी बिपाशा ने बताया कि उनका पहला व दूसरा मुकाबला मंगोलिया और उलेजिस्तान से हुआ था जिसमें उन्होंने सिल्वर मेडल जीता है। भविष्य में आयोजित होने वाले मुकाबलों की वह तैयारियां करेगी,  आज उनका जोरदार स्वागत हुआ है जिससे वह बेहद खुश है और भविष्य में भी देश के लिए इसी तरह से मेडल जीतने का प्रयास करते रहेगी।

इस मौके पर उनकी मां गीता ने अपना दर्द बताते हुए कहा कि जब उन्होंने अपनी बेटी को पहली बार कुश्ती खेलने के लिए भेजा तो उनको समाज के लोगों की बातें भी सुननी पड़ती थी । लोग कहते थे कि लड़की को कुश्ती खिला रहे हो क्या यह सही रहेगा। लेकिन अब उनकी बेटी बिपाशा ने जूनियर वर्ल्ड कुश्ती चैंपियनशिप में मेडल जीता है तो सब खुशी मना रहे हैं। बेटी भी आजकल बेटों से कम नहीं है केवल जरूरत है उन्हें हौसला देने की  आज वह अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर काफी खुश है। 

गौरतलब है कि बिपाशा बहुत ही मेहनती और होनहार कुश्ती खिलाड़ी है। जिन्होंने नेशनल में गोल्ड मेडल हासिल पहले ही जीत लिया है जिससे अब इनका चयन वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए हो गया है। नवंबर के पहले सप्ताह में चैंपियनशिप के लिए रवाना होगी जिसके लिए वह इनकी अच्छे से तैयारियां करेगी।