रोडवेज कर्मचारी फिर से आंदोलन की राह पर, सरकार पर लगाया वायदा खिलाफी का आरोप

रोडवेज कर्मचारी एक बार फिर से आंदोलन की राह पर जा सकते हैं। कर्मचारियों ने सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए स्पष्ट किया सरकार से कई मांगों पर समझौता होने के बाद भी धरातल पर लागू नहीं किया गया है। अगर ऐसा ही रहा तो केंद्रीय कमेटी की मीटिंग बुलाकर आगामी आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

रोडवेज कर्मचारी फिर से आंदोलन की राह पर, सरकार पर लगाया वायदा खिलाफी का आरोप

Charkhi Dadri (Pardeep Sahu ) || रोडवेज कर्मचारी एक बार फिर से आंदोलन की राह पर जा सकते हैं। कर्मचारियों ने सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए स्पष्ट किया सरकार से कई मांगों पर समझौता होने के बाद भी धरातल पर लागू नहीं किया गया है। अगर ऐसा ही रहा तो केंद्रीय कमेटी की मीटिंग बुलाकर आगामी आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जाएगी।

रोडवेज तालमेल कमेटी के आह्वान पर रोडवेज कर्मचारियों ने दादरी बस स्टैंड पर धरना देते हुए रोष प्रदर्शन किया। डिपो प्रधान कृष्ण ऊण की अध्यक्षता में कर्मचारियों ने सरकार व विभाग के आला अधिकारियों के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। इस दौरान कर्मचारियों ने कहा कि सरकार से कई मांगों पर सहमती बनी थी और समझौता हुआ था। जिसको लेकर तालमेल कमेटी द्वारा सरकार से मांगे लागू करवाने की बात भी की गई लेकिन सिर्फ आश्वासन ही मिला। इस बार कर्मचारी चुप नहीं बैठेंगे और मांगों को पूरा करवाने के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ेंगे।
डिपो प्रधान कृष्ण ऊण ने कहा कि रोडवेज तालमेल कमेटी की 34 सूत्रीय मांगों में कच्चे कर्मचारियों को पक्का करना, ठेकेदारी प्रथा बंद करना, रोडवेज बेड़े में नई बसें शामिल करना सहित अनेक मांगें हैं। मांगों को सरकार ने धरातल पर लागू नहीं करने पर सांकेतिक धरना-प्रदर्शन किया जा रहा है। जल्द ही केंद्रीय कमेटी की मीटिंग बुलाकर आगामी आंदोलन की रणनीति तैयार की जाएगी।