झमाझम बारिश के डूबा साइबर सिटी

गुरुग्राम में सोमवार सुबह हुई झमाझम बारिश ने जिला प्रशासन के दावों की पोल खोल कर रख दी। सुबह से हो रही बारिश ने जहाँ झुलसाती गर्मी से लोगो को राहत दी तो वही शहर में जगह-जगह देखी वाटर लॉगिंग जैसी समस्या से भी शहरवासियों को दो-चार होना पड़ा। पुराने शहर से नए शहर तक जगह-जगह जल भराव की स्थिति देखने को मिली।

झमाझम बारिश के डूबा साइबर सिटी

Gurugram (Sanjay Khanna) ||  गुरुग्राम में सोमवार सुबह हुई झमाझम बारिश ने जिला प्रशासन के दावों की पोल खोल कर रख दी। सुबह से हो रही बारिश ने जहाँ झुलसाती गर्मी से लोगो को राहत दी तो वही शहर में जगह-जगह देखी वाटर लॉगिंग जैसी समस्या से भी शहरवासियों को दो-चार होना पड़ा। पुराने शहर से नए शहर तक जगह-जगह जल भराव की स्थिति देखने को मिली।

साइबर सिटी के सेक्टर 10,भवानी एनक्लेव ,बसई चौक, सेक्टर 4,भीम गढ़ खेड़ी , बसई रोड, सिविल हिस्पिटल, साउथ सिटी जैसे इलाको में भारी जल भराव के चलते हुए ट्रैफिक जाम हो गया। मॉनसून की  बारिश ने जहाँ आम आदमी को झुलसाती गर्मी से राहत दी तो वही मॉनसून की इस बारिश ने जगह-जगह जल भराव जैसी स्थिति पैदा कर जिला प्रशासन के उन तमाम दावों की पोल भी खोल कर रख दी, जिसमे कहा गया था कि इस बार की बारिश में वाटर लॉगिंग जैसी स्थिति पैदा ही नही होगी । साइबर सिटी में जल भराव इस कदर था कि लोगो का पैदल चलना भी दुश्वार सा हो गया। वही स्थानीय लोगो की माने तो हर साल करोड़ो रूपये खर्च कर यह दावे किए जाते है कि इस साल की बारिश में जल भराव नही होगा अगर होगा तो महज कुछ मिनटों में ही सारा पानी ड्रेनेज के जरिये डिस्चार्ज हो जाएगा लेकिन वास्तविकता जमीनी हकीकत इससे कोसो दूर जरूर नज़र आ रही है।  यानी वही ढाक के तीन पात वाली कहावत जिला प्रशासन के दावों पर बिल्कुल सटीक बैठती दिख रही है जिसमे दावे और दावो की पोल खोलती यह तस्वीरें अधिकारियों को आइना दिखा रही |