पैरा ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट मनीष नरवाल पहुंचा अपने ननिहाल...

टोक्यो पैरा ओलंपिक शूटिंग प्रतिस्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाले मनीष नरवाल रोहतक जिले के इस्माईला गांव में अपने ननिहाल पहुंचे। जहां पर फूलों की बारिश कर और नाच गाकर उनका भव्य स्वागत किया गया।

पैरा ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट मनीष नरवाल पहुंचा अपने ननिहाल...

Rohtak (Harshvardhan) || टोक्यो पैरा ओलंपिक शूटिंग प्रतिस्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतने वाले मनीष नरवाल रोहतक जिले के इस्माईला गांव में अपने ननिहाल पहुंचे। जहां पर फूलों की बारिश कर और नाच गाकर उनका भव्य स्वागत किया गया। नरवाल बोले अब तो पैरा खिलाड़ियों को भी वही सम्मान मिल रहा है जो अन्य खिलाड़ियों को मिलता है। वहीं मां ने अपने बेटे को अपने लिए वरदान बताया और बोली कि अपने बच्चों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

गोल्ड मेडल जीतने वाले मनीष नरवाल का कहना है कि  वह अपनी जीत का श्रेय अपने परिवार, कोच और देशवासियों को देते हैं और उन्हें बेहद खुशी है जो यह पल उनकी जिंदगी में आया है। साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले पैरा ओलंपिक में केवल 19 खिलाड़ियों ने भाग लिया था, लेकिन इस बार तो देश की ओर से 19 मैडल आए हैं, जिसमें से 5 गोल्ड मेडल है। साथ ही मनीष ने कहा कि अब तो पैरा के खिलाड़ियों को भी अन्य खिलाड़ियों की तरह सम्मान दिया जाने लगा है इसी वजह से यह संभव हो पाया है।

वहीं मां संतोष का कहना है भले ही उनका बेटा दिव्यांग है। लेकिन वह उनके परिवार के लिए बोझ नहीं वरदान है और जब तक परिवार के लोग अपने बच्चों को प्रोत्साहित नहीं करेंगे तब तक वह आगे नहीं बढ़ सकता। इसलिए हर परिवार को चाहिए कि अपने बच्चों को उस मुकाम तक पहुंचाएं जो उसका जुनून है। आज उन्हें बेहद खुशी है कि उनका बेटा देश के लिए गोल्ड मेडल लेकर आया है।