पंजाब की तर्ज पर अब हरियाणा से भी जत्थो में महिलाये दिल्ली के लिए हो रही रवाना

पंजाब की तर्ज पर अब हरियाणा की महिलाएं भी जत्थो में दिल्ली की सीमाओं पर रवाना हो रही है | आज हरियाणा के जींद जिले से खटकड़ टोल प्लाजा अलग अलग गाँवों से इक्क्ठा होकर सैंकड़ो की संख्या दिल्ली के सिंघु , टिकरी और ढांसा बॉर्डर के लिए रवाना हुई है |

पंजाब की तर्ज पर अब हरियाणा से भी जत्थो में महिलाये दिल्ली के लिए हो रही रवाना

Jind (Parmjeet Pawar) || पंजाब की तर्ज पर अब हरियाणा की महिलाएं भी जत्थो में दिल्ली की सीमाओं पर रवाना हो रही है | आज हरियाणा के जींद जिले से खटकड़ टोल प्लाजा अलग अलग गाँवों से इक्क्ठा होकर सैंकड़ो की संख्या दिल्ली के सिंघु , टिकरी और ढांसा बॉर्डर के लिए रवाना हुई है | उनका कहना है की महिलाये हर बॉर्डर पर ठहराव करेगी और किसान आंदोलन मे महिलाओ की बड़ी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए किसानो को मजबूती देंगी | महिलाये गीत जाती हुई, हाथो में किसान यूनियन के झंडे , तिरंगे और कई दिन के कपडे लेकर रवाना हुई है |

दिल्ली की सीमाओं पर जाने वाली महिलाओं ने कहा की खेती के तीन काले कानून जब तक रद्द नहीं होंगे तब तक महिलाएं हर मोर्चे पर डटी रहेगी |  महिलाओं ने कहा आज हज़ारो की संख्या में महिलाये दिल्ली जा रही है | 6 महीने से ज्यादा समय से किसान सड़को पर है लेकिन सरकार सुनवाई नहीं कर रही है | इस मौसम में महिलाये बिलकुल फ्री है और दिल्ली की सीमाओं पर ठहराव कर आंदोलन को मजबूत करेंगे | किसानो को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गारंटी और काले कानून रद्द चाहिए | महिलाये दिल्ली के हर बॉर्डर पर जायेगी और किसानो की आवाज बुलंद करेगी |