मथुरा : रालोद की बैठक में जमकर चले लात-घूसे

यूपी के सीएम योगी के खिलाफ शंखनाद करने के लिये बुलाई गई रालोद की बैठक में कार्यकर्ताओं के बीच ही जमकर लात-घूंसों का घमासान हो गया जिसमें दोनों पक्षों को रालोद नेताओं ने जैसे तैसे अलग-कर मामले को शान्त कराया।

मथुरा : रालोद की बैठक में जमकर चले लात-घूसे

Mathura (Pawan Gupta) || यूपी के सीएम  योगी के खिलाफ शंखनाद करने के लिये बुलाई गई रालोद की बैठक में कार्यकर्ताओं के बीच ही जमकर लात-घूंसों का घमासान हो गया जिसमें दोनों पक्षों को रालोद नेताओं ने जैसे तैसे अलग-कर मामले को शान्त कराया।

रालोद के नव नियुक्त बृज प्रान्त अध्यक्ष चौ. जगपाल चौधरी चेयरमैन, जिलाध्यक्ष बाबूलाल चौधरी पूर्व प्रमुख, बल्देव ब्लॉक प्रमुख अनिल भरंगर एवं राया ब्लॉक प्रमुख मुकेश चौधरी के सम्मान एवं प्रेस वार्ता के लिये डैम्प्यिर नगर स्थित एक निजी होटल में बैठक शुरू होते ही रालोद के वरिष्ठ नेता रामवीर भरंगर के समर्थक एवं बल्देव क्षेत्र के रालोद कार्यकर्ता जो जिला पंचायत सदस्य पद के दावेदार थे को टिकट ना दिये जाने से खफा थे के बीच पहले कहासुनी हुई फिर गाली-गलौज के बाद दोनों ओर से जमकर लात-घूंसे चलने लगे। इसे देख रालोद के वरिष्ठ नेता बीच-बचाव करने पहुंचे तो वह भी धक्का मुक्की का शिकार हो गये।
घटना के प्रतयक्ष दर्शियों का कहना है कि एक पक्ष द्वारा बाहर से पहलवानों को आने के लिये फोन करने पर मामले को बढ़ते देख रालोद नेताओं द्वारा पुलिस को सूचना दी गई। जिससे पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। लेकिन रालोद नेताओं ने मामले को आपसी बताते हुए पुलिस को वापिस भेज दिया और दोनों को अलग- कर शान्ति स्थापित कर बैठक की प्रक्रिया शुरू की गई। इस सम्बन्ध में रालोद बृज क्षेत्र अध्यक्ष जगपाल सिंह चेयरमैन ने बताया कि बैठक से पूर्व कार्यकर्ताओं में कहासुनी हुई है जो राजनैतिक कार्यक्रमों में होना सामान्य बात है। प्रदेश उपाध्यक्ष कु. नरेन्द्र सिंह ने बैठक में मारपीट की घटना को स्वीकार करते हुए बताया कि ये मामला आपसी है और दोनों पक्षों को बैठाकर जल्द ही सुलह नामा करा दिया जायेगा। उन्होंने मौके पर पुलिस आने की बात स्वीकार करते हुए बताया कि किसी भी पक्ष द्वारा कोई रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई गई है। उन्होंने कहा कि रालोद पूरी तरह एक जुट है और संगठन में किसी भी प्रकार की कोई मतभेद नहीं है।