जन साहस डेवलपमेंट सोसाइटी ने जरूरतमंदों और दैनिक मजदूरों के लिए चलाई ये मुहिम

जन साहस डेवलपमेंट सोसाइटी एक स्वयंसेवी संस्था है तथा वर्तमान समय में भारत के लगभग 13 राज्यों के 100 जिलों मे प्रवासी मजदूरों के सामाजिक सुरक्षा और महिलाओं व बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा की रोकथाम के लिए कार्य करती है । महिलाओं व प्रवासी मजदूरों की आवश्यकता व कौशल विकास, मानसिक स्वास्थ्य, पोषण स्वास्थ्य और शिक्षा के लिए यह निरंतर कार्य कर रही है ।

जन साहस डेवलपमेंट सोसाइटी ने जरूरतमंदों और दैनिक मजदूरों के लिए चलाई ये मुहिम

Delhi || जन साहस दिल्ली व राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के 6 जिलों में जो फरीदाबाद गुड़गांव दक्षिणी दिल्ली उत्तरी दिल्ली नोएडा व गाजियाबाद में, प्रवासी मजदूरों के सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के तहत व सरकारी योजनाएं को मजदूरों जो उनके  हित के लिए हैं उन तक  पहुंच बनाने के लिए और उन्हें जागृत करने के लिए एमआरसी कार्यक्रम के तहत कार्य कर रही है।

जबसे लॉकडाउन हुआ है मजदूरों को व उनके परिवारों में विशेषकर बच्चों, गर्भवती महिलाओं विधवाओं , विकलांग जनों को इस समय राहत सामग्री की अति आवश्यकता है उपरोक्त जरूरतों को पूरा करने के लिए  जन साहस प्रवासी मजदूरों वह उनके परिवारों को त्वरित राहत  सामग्री प्रदान कर रही है इस कड़ी में  उत्तर पश्चिम दिल्ली(हेदरपुर और होलंबिकलां) में 132 प्रवासी मजदूरों को राशन की सुविधा प्रदान की जा रही है फॉलो के तहत इन मजदूरों का रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है ताकि आने वाले समय में दिल्ली बीओसीडब्ल्यू बोर्ड के साथ मिलकर इन मजदूरों का पंजीयन किया जाएगा ताकि सरकार द्वारा जो भी सामाजिक सुरक्षा योजनाएं मजदूरों के लिए है उनको मिल सके साथ ही वित्तीय संस्थाओं जैसे बैंक नाबार्ड के साथ समायोजन कर कर राष्ट्रीय कृत बैंकों में उनका खाता खुला या जाएगा ताकि सरकारी योजनाएं सीधे मजदूरों के खातों में पहुंचे | प्रवासी मजदूर सहायता और आवश्यक जानकारी के लिए जन साहस के मजदूर हेल्पलाइन नंबर 18002000211 पर कॉल कर सकते है

आज वितरण के दौरान हमारे टीम के साथ आस पास के समुदाय मे से कुछ इच्छुक युवा भी जुड़े हमारी सहायता के लिए जो की आगे हमारे साथ जुड़े रहने में भी इच्छुक हैं। उन सभी युवाओं को धन्यवाद हमारी सहायता के लिए। जन साहस के स्टाफ गण जिला समन्वयक श्रीमती अश्वथी,सेन्टर फैसिलिटेटर सुभद्रा और राम सुरेश, जिला Facilitator अभिषेक, फील्ड ऑफिसरों पूजा कुमारी शाह और बिजेंद्र कुमार, बाकी सबी कर्माचारियों और साथियों अजय, विजय बाबू शर्मा व टिंकू द्धारा सामग्री प्रदान की गई और  प्रक्रिया आगे भी जारी रहेगी