जीन्द में यात्रियों से भरी रोडवेज की बस 3 फुट गहरी नहर बनी सडक के मैन होल में धंसी...

जीन्द में यात्रियों से भरी रोडवेज की एक बस भिवानी रोड पर 3 फीट गहरी नहर बनी सड़क के मैन होल में 3 घण्टे तक धंस कर रह गई जिसके चलते करीबन 3 घण्टे तक यात्री परेशान रहे। बस में बैठे बच्चों का तो रो रो कर बुरा हाल था। प्रशासन के सभी विभागों को सूचित करने के बाद भी किसी भी विभाग ने मौके पर आकर सुध नही ली। ऐसे में जींद विकास संगठन के प्रधान राजकुमार गोयल मौके पर पहुंचे और यात्रियों का हौसला बढाया। जींद विकास संगठन ने बच्चों को खाने पीने का सामान दिलाया। एक एक करके यात्रियों को बाहर निकाला। बच्चों को कंधे पर उठाकर दुसरी बस तक पहुंचाया।

जीन्द में यात्रियों से भरी रोडवेज की बस 3 फुट गहरी नहर बनी सडक के मैन होल में धंसी...

Jind (Parmjeet Pawar) || जीन्द से भिवानी जा रही सरकारी रोडवेज की एक बस आज भिवानी रोड पर 3 फीट गहरी नहर बनी सड़क के एक खुले पड़े मैन होल में धंस गई। बस के ड्राईवर ने बस को निकालने की बहुत कोशिश की लेकिन बस एक तरफ से मैन होल में पूरी तरह धंस चुकी थी। बस एक तरफ से झुक गई थी और बस के चारों तरफ पानी ही पानी था। पानी ज्यादा होने की वजह से यात्री बाहर नही निकल पा रहे थे ऐसे में यात्री परेशान होकर रह गए। बस में बैठे बच्चों का तो और भी बुरा हाल था। कई बच्चें धबरा गए थे। आस पास के लोगों ने प्रशासन को इस घटना की सुचना दी लेकिन किसी ने भी मौके पर आकर सुध नही ली।

सुचना जींद विकास संगठन तक पहुंची। संगठनों के पदाधिकारी प्रधान राजकुमार गोयल के साथ पानी में से होते हुए मौके पर पहुंचे। यहाँ उन्होनें  यात्रियों से बातचीत की। उनकी हौंसला अफजाई की। प्रशासन के आला अधिकारियों से बात की। जब तक अधिकारी मौके पर नही आए तब तक जींद विकास संगठन ने बस में बैठे बच्चों को पानी, चिप्स और बिस्कुट दिए गए। काफी देर के बाद क्रेन मौके पर पहुंची। क्रेन के माध्यम से बस को बाहर निकालने के कई प्रयास हुए लेकिन कामयाबी नही मिली। ऐसे में बस में बैठे बच्चों को बाहर निकालने का प्लान बनाया गया। संगठनों के पदाधिकारी बच्चों को अपने कंधो पर बैठाकर बाहर निकालते हुए नजर आए इस दौरान उनके बैंग इत्यादि सामान भी खुद संगठन के पदाधिकारियों के द्वारा ही निकाला गया। क्रेन के माध्यम से बस को निकालने के फिर प्रयास हुए। कई घण्टों के बाद जाकर धंसी बस को बाहर निकालने में कामयाबी मिली। जीन्द विकास संगठन के अध्यक्ष राजकुमार गोयल व अन्य पदाधिकारियों की इस काम के लिए चारों और प्रशसंा हो रही है। जीन्द विकास संगठन का कहना है कि बडे शर्म की बात है कि 3 घण्टे तक बस धंसी रही लेकिन प्रशासन का कोई अधिकारी और कर्मचारी मौके पर नही पहंुचा। न तो रोडवेज का कोई अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहंुचा और न ही नगर परिषद का। 3 घण्टे तक एक भी अधिकारी और कर्मचारी का मौके पर न पहुंचना जता रहा है कि शायद प्रशासन का जीन्द की जनता से कोई लेना देना नही रहा। चुने हुए प्रतिनिधि भी इस घटना में कही सहायता करते नजर नही आए। वे भी शायद लगातार कुभकंर्णी सोए हुए हैं।