जेल में रहना है आराम से तो देनी होगी 5 लाख की रंगदारी! जानिए क्या है पूरा मामला

साइबर सिटी की भोंडसी जेल अपराधियो के लिए सुधार गृह कम एशगह अधिक बनती जा रही है। जेल में वसूली का खेल बदस्तूर जारी है। ताजा मामला जेल में विचाराधीन कैदी के साथ जेल में बंद सजायाफ्ता कैदियों दुवारा मारपीट किए जाने और 5 लाख रुपए की रंगदारी मांगे जाने का आया है। दिल्ली का रहने वाला आयुष फ्राड के मामले में गुरुग्राम की भोंडसी जेल में विचाराधीन है।

जेल में रहना है आराम से तो देनी होगी 5 लाख की रंगदारी! जानिए क्या है पूरा मामला

Gurugram (Sanjay Khanna) || साइबर सिटी की भोंडसी जेल अपराधियो के लिए सुधार गृह कम एशगह अधिक बनती जा रही है। जेल में वसूली का खेल बदस्तूर जारी है। ताजा मामला जेल में विचाराधीन कैदी के साथ जेल में बंद सजायाफ्ता कैदियों दुवारा मारपीट किए जाने और 5 लाख रुपए की रंगदारी मांगे जाने का आया है।

दिल्ली का रहने वाला आयुष फ्राड के मामले में गुरुग्राम की भोंडसी जेल में विचाराधीन है। आरोप है कि जेल में बंद सचिन नम्बरदार, शकरुला,  इस्लामुदिन्न व शेखर ने आयुष से जेल में आरामदायक समय व्यतित करने के नाम पर 5 लाख रुपए की मांग की। जब आयुष ने पैसा देने में असमर्थता जाहिर की तो चारो ने उसके साथ जेल में मारपीट की। इतना ही नही चारो ने जेल की कैंटीन से सामान लेने पर भी पाबंदी लगा दी। आयुष ने उसकी शिकायत जेल प्रबधन से की। जेल प्रबंधन ने इसकी सूचना भोंडसी थाने में दी। पुलिस ने आयुष की शिकायत पर चारो के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

एसीपी क्राइम की माने तो जेल में बंद विचाराधीन कैदी आयुष के साथ जेल में बंद कैदियों दुवारा मारपीट किए जाने और रंगदारी मांगे जाने की शिकायत मिली है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और चारो कैदियों को प्रोटेक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ करने की तैयारी शुरू कर दी है। एसीपी की माने तो जेल में किसी भी कैदी के साथ दुर्व्यवहार बर्दास्त नही किया जाएगा। चारो आरोपियों के खिलाफ कानून की उचित धाराओं के तहत कारवाई की जाएगी। जिला जेल भोंडसी में किसी विचाराधीन कैदी से रंगदारी मांगने की यह कोई पहली घटना नही है। इससे पहले भी अनेक मामले उजागर होते रहे है। इतना ही नही जेल के बंद कैदियों दुवारा जेल से बाहर भी रंगदारी मांगे जाने का खेल चलता रहा है। बावजूद इसके जेल प्रशासन इस पर अंकुश लगाने में नाकामयाब रहा है। देखना होगा कि इस मामले में गुरुग्राम पुलिस क्या कदम उठाती है और जेल में चल रहे रंगदारी के खेल पर कितना अंकुश लगा पाती है यह तो समय ही बताएगा।