करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर कृषि कानूनो की प्रतियों को जला किसानों ने किया अपना रोष व्यक्त...

करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर कृषि कानून के विरोध में धरने पर बैठे किसान संगठनों की हुई अहम बैठक। बैठक के बाद किसानों ने कृषि कानून के विरोध में तीनो कृषि कानून की प्रतियों को जलाकर सरकार के प्रति अपना रोष व्यक्त कर जमकर नारेबाजी की , वही किसान संगठनों ने कहा 24 जनवरी को करनाल से लगभग 15 हजार ट्रेक्टर दिल्ली के लिए रवाना होंगे। जो ट्रेक्टर 26 जनवरी को दिल्ली में होने वाले ट्रेक्टर मार्च में हिस्सा लेंगे।

करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर कृषि कानूनो की प्रतियों को जला किसानों ने किया अपना रोष व्यक्त...

Karnal (Sanjay Raina) || कृषि कानून के विरोध में विभिन्न किसान संगठनों ने अपने आंदोलन को और ज्यादा तेज कर दिया है। कृषि कानून के विरोध में दिल्ली सीमा पर जहा हजारों किसान और उनके परिवार के लोग अंदोलन का हिस्सा बने हुए है। वही करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर भी किसान संगठनों ने तकरीबन 20 दिनों से कृषि कानून के विरोध में धरना दिया हुआ है। किसान लगातार अलग अलग तरीको से सरकार के प्रति अपना रोष व्यक्त करते हुए नजर आ रहे हैं।

जिले भर के सेकड़ो किसान द्वारा करनाल के बसताड़ा टोल प्लाजा पर जिले के किसान नेताओ द्वारा बैठक कर किसान अंदोलन को लेकर आगे की रणनीति पर तैयार की गई। गांव स्तर , ब्लॉक स्तर और जिला स्तर पर कमेटियां बनाई गई हैं जो ट्रैक्टर से लेकर दिल्ली जाने तक के हर चीज़ का प्रबंध करेगी। किसानों ने बैठक के बाद तीनों कृषि कानून की प्रतियों को जलाकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों का कहना है उनका विरोध आगे भी ऐसे ही जाए रहेगा। वही किसान संगठनों ने कहा 24 जनवरी को करनाल से लगभग 15 हजार ट्रेक्टर दिल्ली के लिए रवाना होंगे। जो ट्रेक्टर 26 जनवरी को दिल्ली में होने वाले ट्रेक्टर मार्च में हिस्सा लेंगे, जिसकी तैयारियां शुरू करदी गई है। जिले के प्रत्येक गांव में जाकर ज्यादा से ज्यादा लोगो को टेक्टर मार्च के लिए जोड़ा जाएगा। ताकि हजारों की संख्या में किसान दिल्ली में होने वाले ट्रेक्टर मार्च में हिस्सा ले सके।