दिल्ली : 13 साल के बल्लेबाज ने 125 गेंदों पर बटोरे 341 रन! बना विश्व रिकॉर्ड...

अंडर 14 क्रिकेट वनडे टूर्नामेंट में 13 वर्षीय मोहक कुमार के द्वारा 341 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया मोहक कुमार ने महज 125 गेंदों का सामना करते हुए 40 ओवर के मैच में 341 रन बनाकर पवेलियन लौटे वहीं अब तक का घरेलू वनडे क्रिकेट में किसी खिलाड़ी का सबसे सर्वोच्च स्कोर माना जा रहा वही इस स्कोर के बनने के बाद खिलाड़ी मोहक कुमार का क्रिकेट जगत में चारों तरफ तारीफें मिल रही तो वहीं इस खिलाड़ी ने इतनी बड़ी पारी खेलने का श्रेय अपने डीसी बाल भवन क्रिकेट एकेडमी (द्वारका) के कोच को श्रेय दिया है

दिल्ली : 13 साल के बल्लेबाज ने 125 गेंदों पर बटोरे 341 रन! बना विश्व रिकॉर्ड...

Delhi (Deep Silodi) || अंडर 14 क्रिकेट वनडे टूर्नामेंट में 13 वर्षीय मोहक कुमार के द्वारा 341 रन बनाकर विश्व रिकॉर्ड बनाया गया मोहक कुमार ने महज 125 गेंदों का सामना करते हुए 40 ओवर के मैच में 341 रन बनाकर पवेलियन लौटे वहीं अब तक का घरेलू वनडे क्रिकेट में किसी खिलाड़ी का सबसे सर्वोच्च स्कोर माना जा रहा वही इस स्कोर के बनने के बाद खिलाड़ी मोहक कुमार का क्रिकेट जगत में चारों तरफ तारीफें मिल रही तो वहीं इस खिलाड़ी ने इतनी बड़ी पारी खेलने का श्रेय अपने डीसी बाल भवन क्रिकेट एकेडमी (द्वारका) के कोच को श्रेय दिया है |

डीसी बाल भवन क्रिकेट एकेडमी का जहां कई बच्चे क्रिकेट की प्रैक्टिस करते हुए नजर आ रहे हैं यह वही बच्चे हैं जो आगे चलकर भारत के लिए खेलना चाहते हैं और आज हम बात कर रहे हैं इसी क्रिकेट एकेडमी के उभरते हुए खिलाड़ी मोहक कुमार की जिन्होंने महज 13 वर्ष की उम्र में अंडर फोर्टीन क्रिकेट टूर्नामेंट के दौरान 125 बॉल का सामना करते हुए 341 रन ताबड़तोड़ बैटिंग कर ठोक डाले वह इस विशाल स्कोर को बनाने के बाद पूरे क्रिकेट जगत में इनका नाम की चर्चा चल रही वही मोहक कुमार ने बताया कि उनका मन पसंदीदा क्रिकेट खिलाड़ी शिखर धवन और क्रिस गेल है उन्हें देखकर ही उन्हें विस्फोटक तरीके से खेलने का हौसला मिलता है वही जब मैं अंडर फोर्टीन के एक मैच में जब खेल रहा था तो मैंने शुरू से एक लंबी पारी खेलने की सोच के साथ मैदान पर उतरा था जिसके बाद मैंने 125 गेंद का सामना करते हुए 341 रन बना डालें हालांकि मैं हमेशा आत्मनिर्भरता के साथ खेलता हूं और खुलकर खेलता हूं जिसके वजह से मैंने यह कीर्तिमान हासिल किया है वही मुझे भारत के लिए खेलना है जो मेरा सबसे बड़ा सपना है और इसके लिए मैप दिन और रात एक कर अभ्यास करना चाहता हूं ताकि मेरा क्रिकेट खेलने का जज्बा और बड़े अभी तो यह शुरुआत है आगे के रास्ते और भी कठिन है जिसे मुझे पार कर भारतीय टीम में शामिल होना है ।

वही डीसी बाल भवन क्रिकेट एकेडमी के कोच ने बताया कि मोहक कुमार के द्वारा वनडे में महज 40 ओवर के मैच में 125 गेंद का सामना करते हुए ताबड़तोड़ 341 रन की पारी खेलना किसी खिलाड़ी के सपने से कम नहीं महज 13 वर्ष की उम्र में इतना बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाना उस खिलाड़ी को अलग दर्शाता है और आने वाले समय में मोहक का प्रेक्टिस को देखते हुए और उसके खेलने के नए-नए तरीकों को देखते हुए हम यह अंदाजा लगा रहे हैं कि मोहक एक दिन जरूर भारतीय टीम में शामिल होकर देश का नाम रौशन करेगा ।


वही मोहक के पिता मोहक के इस कीर्तिमान पर खुश होते हुए बताया कि मेरे बेटे का सपना भारतीय टीम में शामिल होकर देश को और भी ऊंचाइयों पर ले जाना है जिसको लेकर मोहक लगातार कड़ा अभ्यास कर रहा एक पिता अपने बच्चों को सही दिशा दे सकता है अब मोहक पर डिपेंड करता है कि आगे की आने वाली कड़ी चुनौतियों का सामना कैसे करता है जिसका मैं पूरी तरह सपोर्ट करता हूं वह जितने देर भी प्रैक्टिस करता है मैं उसके साथ रहता हूं  उस पर हमेशा नजर बनाए रखता हूं मुझे विश्वास है कि आने वाले समय में मेरा बेटा देश के लिए खेलेगा और देश का नाम रोशन करेगा ।