कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव रघुराज खटाना ने पुलिस पर लगाए राजनीतिक द्वेष भावना का आरोप...

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव (इंटेक्क) रघुराज खटाना ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस बदमाशों के साथ मिलीभगत कर रही है जिससे उनकी व उसके परिवार की जान को खतरा बना हुआ है ।

कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव रघुराज खटाना ने पुलिस पर लगाए राजनीतिक द्वेष भावना का आरोप...

Sohna (Sanjay Raghav) || कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव (इंटेक्क) रघुराज खटाना ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस बदमाशों के साथ मिलीभगत कर रही है  जिससे उनकी व उसके परिवार की  जान को खतरा बना हुआ  है ।कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव ने पुलिस को बदमाशों द्वारा जान से मारने की धमकी देने की एक शिकायत दी थी। साल 2018 में बदमाशों ने कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव को गोली मार दी थी उस समय मुश्किल से उसकी जान बच पाई ।उसी मामले को लेकर अब बदमाशों ने दोबारा राष्ट्रीय सचिव को जान से मारने की धमकी दी है जिस पर एक शिकायत सोहना थाने को राष्ट्रीय सचिव ने दी है राष्ट्रीय सचिव ने आरोप लगाया कि पुलिस उनके साथ राजनीतिक देश भावना के चलते आरोपी पक्ष के साथ मिलीभगत कर रही है ।उन पर  दबाब बना रही है राष्ट्रीय सचिव ने पुलिस को कटघरे में खड़े करते हुए कहा कि अगर उनकी जान को अगर कोई खतरा हुआ तो उसके जिम्मेदार हरियाणा पुलिस होगी होगी हरियाणा पुलिस होगी होगी सुरक्षा की नजर से अदालत ने राष्ट्रीय सचिव को सुरक्षा मुहैया कराई हुई है |

कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव  रखुराज खटाना ने बताया कि साल 2018 में बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी थी जिस पर गांव दमदमा निवासी 3 लोगों पर धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया था ।राष्ट्रीय सचिव ने बताया कि उसके भाई के पास बीती रात किसी अज्ञात आदमी का फोन आया जिसमें उसने बताया कि कि वही बदमाश अब दोबारा उसे जान से मारने की योजना बना रहे हैं। जिस पर एक शिकायत राष्ट्रीय महासचिव ने एक शिकायत राष्ट्रीय महासचिव ने सोहना थाने में दी। सचिव ने आरोप लगाया कि शिकायत पर जब सोहना थाने पहुंचे तो पुलिस पूरी तरह से बदमाशों का पक्ष लेते हुए दिखाई थी दिखाई थी  व उल्टा पुलिस ने उन्हें ही धमकाना शुरू कर दिया सचिव ने बताया कि उन्हें पूरी तरह से बदमाशों से जान का खतरा बना हुआ है ।जिस तरह पुलिस उनका पक्ष ले रही है किसी भी समय उन पर व उनके परिवार पर जानलेवा हमला हो सकता है उन्होंने इस मामले में आरोप लगाते हुए कहा कि राजनीतिक द्वेष भावना के चलते हैं उनके साथ पुलिस ऐसा बर्ताव कर रही है राष्ट्रीय सचिव ने इस मामले में एक शिकायत गुड़गांव पुलिस कमिश्नर को की है वहीं उन्होंने हरियाणा सरकार से गुहार लगाई है कि उन्हें पूरी तरह से सुरक्षा मुहैया कराई जाए। उनके उनके परिवार को हमला होता है तो उसके जिम्मेदार हरियाणा पुलिस होगी