यमुनानगर में बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए चलाया गया बड़ा अभियान...

बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए चलाया गया बड़ा अभियान। भिक्षा वृति कर रहे 5 बच्चों को किया गया रेस्क्यू।दरअसल शहर में जगह जगह बाल भिक्षुओं के भीख मांगने की शिकायतें मिल रही थी।

यमुनानगर में बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए चलाया गया बड़ा अभियान...
Yamunanagar (Sumit Oberoi) || बाल भिक्षावृत्ति को रोकने के लिए चलाया गया बड़ा अभियान। भिक्षा वृति कर रहे 5 बच्चों को किया गया रेस्क्यू।दरअसल शहर में जगह जगह बाल भिक्षुओं के भीख मांगने की शिकायतें मिल रही थी।जिसके बाद दोपहर से कल देर शाम तक चाइल्ड लाइन की डायरेक्टर ,जिला बाल संरक्षण की टीम,चाइल्ड वेलफेयर कमेटी की टीम और क्राइम ब्रांच की टीम ने संयुक्त रूप से एक टीम बनाकर छापेमारी की  तो शहर के मुख्य जगहों पर बाल भिक्षु दिखाई दिए ।टीम ने उनका रेस्क्यू किया और सीडब्ल्यूसी कमेटी के सामने पेश कर उनकी काउंसलिंग की गई।साथ ही टीम ने बताया कि अब ये कारवाई लगातार जारी रहेगी।मासूमों के बचपन को ऐसे बर्बाद नही होने देंगे और जो लोग इनसे भीख मंगवा रहे है उनके खिलाफ भी कारवाई की जाएगी।

जिन हाथों में किताबे होनी चाहिए और जो बचपन खेलकूद में बीतना चाहिए।लेकिन वो बचपन सड़को पर भीख मांग रहा है।इसी बचपन को बचाने की कवायद में आज चार विभागों ने संयुक्त रूप से छापेमारी करते हुए 5 बाल भिक्षुओं को रेस्क्यू किया।चाइल्ड लाइन की डायरेक्टर ने कहा  की कोई भी बच्चा भीख मांगता हुआ दिखाई दे तो उसे भीख न दे ऐसा करके हम बाल भिक्षावृत्ति को बढ़ावा दे रहे है।हमे ऐसे बच्चों की मदद करनी चाहिए ताकि वो इस तरह के काम न करे।इसीलिए आज ये अभियान चलाया गया और 5 बच्चो को रेस्क्यू किया गया अब इन्हें सीडब्ल्यूसी के सामने पेश कर इनकी काउंसलिंग की जाएगी।साथ ही उन्होंने बताया कि आगे भी इस तरह की छापेमारी जारी रहेगी।ताकि हम बच्चो को भिक्षावृत्ति से रोक सके।
वही चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के सदस्य पवन कुमार ने जिला उपायुक्त के निर्देशानुसार आज यह कार्रवाई की गई है और शहर के अलग-अलग जगहों से 5 बच्चों को रेस्क्यू किया गया है जो कि भिक्षावृत्ति कर रहे थे अब इन बच्चों की काउंसलिंग की जाएगी। अब देखना होगा कि इन विभागों के इस एक्शन से  बाल भिक्षावृत्ति पर कितनी रोक लग पाएगी।