अंबाला नगर परिषद एक्शन मोड़ में! प्रॉपर्टी को किया सील... जानिए पूरा मामला....

अंबाला नगर परिषद की टीम इन दिनों एक्शन मोड़ में नजर आ रही है ! प्रॉपर्टी टैक्स जमा न कराने वालों पर नगर परिषद की तरफ से कड़ी करवाई की जा रही है ! नगर परिषद द्वारा लोगो से अपील भी की जा रही है की अपना प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराएं लेकिन उसके बावजूद लोग नहीं मान रहे जिसके चलते नगर परिषद द्वारा लोगो की प्रॉपर्टी को सील किया जा रहा है ! इसी कड़ी में आज अम्बाला-जगाधरी रोड पर पर स्थित एक खल भंडार को सील किया गया !

अंबाला नगर परिषद एक्शन मोड़ में! प्रॉपर्टी को किया सील... जानिए पूरा मामला....

Ambala (Ankur Kapoor) || अंबाला नगर परिषद की टीम इन दिनों एक्शन मोड़ में नजर आ रही है ! प्रॉपर्टी टैक्स जमा न कराने वालों पर नगर परिषद की तरफ से कड़ी करवाई की जा रही है ! नगर परिषद द्वारा लोगो से अपील भी की जा रही है की अपना प्रॉपर्टी टैक्स जमा कराएं लेकिन उसके बावजूद लोग नहीं मान रहे जिसके चलते नगर परिषद द्वारा लोगों की प्रॉपर्टी को सील किया जा रहा है ! इसी कड़ी में आज अम्बाला-जगाधरी रोड पर पर स्थित एक खल भंडार को सील किया गया !  नगर परिषद सचिव के अनुसार पिछले काफी सालों से इन लोगों ने  प्रॉपर्टी टैक्स जमा नहीं कराया ! खल भंडार मालिक ने नगर परिषद की इस कार्रवाई पर सवाल उठाये !जब मालिक ने मौके पर ही नगर परिषद अधिकारी को चेक दिया तब उसकी सील खोली गई !

 
 नगर परिषद की टीम टैक्स वसूली के लिए लगातार अभियान चलाये हुए है ! नगर परिषद की टीम द्वारा बार बार लोगों को समझाया जा रहा है की अपना प्रॉपर्टी टैक्स समय पर जमा कराएं लेकिन फिर भी लोग नहीं मान रहे जिसके चलते नगर परिषद करवाई कर रहे है इसी कड़ी में आज फिर अम्बाला जगाधरी रोड पर स्तिथ एक खल भण्डार पर करवाई करते हुए सील कर दिया जिसका टैक्स 11 लाख से ऊपर बन रहा था ! इस बीच नगर परिषद टीम व् मालिक के बीच काफी हंगामा भी हुआ लेकिन आखिर कर नगर परिषद के आगे मालिक को झुकना ही पड़ा और मालिक ने चेक काट कर नगर परिषद के सेक्रेटरी राजेश कुमार को दिया तब जाकर सील की गई प्रॉपर्टी से सील हटाई गई !  वहीँ सेक्रेटरी ने बताया की इनके ऊपर 11 लाख 39 हज़ार 605 रूपए का टैक्स बकाया था जब नगर परिषद की टीम ने इस बारे में बताया तो ये लोग बहस करने लगे !
 
 जब इस बारे प्रॉपर्टी मालिक से बात की तो उन्होंने नगर परिषद की करवाई को गलत ठहराया ! उन्होंने कहा की जब हम इतनी बड़ी प्रॉपर्टी के मालिक हैं तो टैक्स क्यों नहीं देंगे लेकिन ये लोग 50 आदमियों को लेकर आ गए ! उन्होंने नगर परिषद कर्मियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए उनकी करवाई को तानाशाही बताया साथ ही उन्होंने कहा की हमारी पूरे एरिया में रेपोटेशन है लेकिन इन लोगों ने सारी मिट्टी में  मिला दी ! जो कि सरासर नाइंसाफी है ! वहीँ उन्होंने कहा की परिषद का कोई एक अधिकारी आकर बात करता ! वहीं उन्होंने कमेटी पर ज्यादा टैक्स वसूलने की बात कही साथ ही फेक ID बनाने की बात भी कही !